Panchtantra ki kahaniya 2020 || चार दोस्तों की कहानी || Hindi kahaniya 2019-20

27
260
panchatantra, story in hindi, panchatantra stories, panchatantra stat, kahaniya, moral story in hindi, panchatantra stories in hindi, panchatantra stories in telugu, panchayat raj, short stories in hindi, panchathanthiram, panchtantra, panchatantra.kar.nic.in, panchtantra ki kahaniya, panchatantra stories in english, hindi stories with moral, hindi kahaniya, hindi story with moral, vishnu sharma, panchtantra ki kahani, kahaniyan, ????????, kahaniya.com, panchatantra story, short moral stories in hindi, mitra bheda, panchtantra stories, hindi short stories with moral, kids stories in hindi, short hindi stories with moral values, kahaniya in hindi, panchatantra stories in kannada, ???????? ?? ????????, hindi story books, ??????, story in hindi for kids, panchathantra, brahman in hindi, panchtantra ki kahaniya in hindi, short hindi stories, moral stories in hindi for class 9, moral stories in hindi for class 8, panchtantra stories in hindi, panchtantra ki kahani in hindi, panchatantra kathalu, panchatantra stories in telugu pdf, panchatantra story in hindi, panchtantra ki kahaniyan, panchathantiram, thirsty crow story in hindi

Welcome to Panchtantra ki kahaniya 2020.इस कहानी में हम चार दोस्तो की कहानी की बात करेगे।

तो दोस्तो  मै इसमे Panchtantra  और सब प्रकार की कहानियां(Story) और  Stories आपके सामने पेश करूँगा।

एक गांव में 4 दोस्त रहते थे। चारों के नाम इस प्रकार थे।

  • रामू
  • शामू
  • दामू
  • धामू

चारों दोस्त अपने खेतों में काम किया करते थे। और उससे अपना गुजारा किया करते थे। इस प्रकार उनके जिंदगी

सुखी  पूर्वक कट  रही थी।  लेकिन  एक बार  गांव में  बहुत  ज्यादा बरसात हुई। और उनकी फसलें बर्बाद हो गई।

जिससे वह परेशान रहने   लगे।   और  उनके घर में कुछ  खाने  को  नहीं  रह  गया।  फिर  वह  लोग  एक  बाबा

के पास पहुंचे। और बाबा से गुहार करने लगे।

Panchtantra ki kahaniya 2020

बाबा से बहुत गुहार करने के बाद बाबा ने उनको एक हल बताया। बाबा ने उनको 4 मोती दिए। चारों

मोती देने के बाद बाबा ने कहा कि इस जंगल की  तरफ चले जाओ।  जंगल की तरफ जाते जाते जहां

पर एक मोती गिर जाए। वहां पर खुदाई करना। और आप को धन की प्राप्ति होगी।

वह चारों दोस्त जंगल की तरफ निकल पड़े। धीरे-धीरे चलते चलते रामू का मोती जमीन पर गिर पड़ा।

बाबा के कथन अनुसार वह चारों दोस्त मिलकर उस जमीन को खोदने लगे। खोते खोते उनको जमीन में

तांबे के कुछ बर्तन मिले। जिनको देखकर  रामू बहुत  खुश हुआ। और  कहा कि अब मैं फिर से खेती कर

सकता हूं। पर  जो वह तीन मित्र थे।  वाह उसे खुश नहीं हुए।  और  आगे जाने  का निश्चय किया। रामू

वह बर्तन लेकर घर वापस लौट गया।

Panchtantra ki kahaniya 2020

धीरे धीरे चलते चलते अब सामू का मोती नीचे गिरता है। वह फिर खोदने लगते हैं  खोदते खोदते उनको

कुछ चांदी के बर्तन मिलते हैं जिनको देखकर सामू बहुत  खुश हो  जाता  है और कहता है इनसे मैं अपने

घरबार को चला सकता हूं लेकिन वह दो दोस्त फिर भी खुश नहीं हुए और  आगे  चलने  का इरादा करते

हैं पर शाम  उनको  समझाता है की  वापस लौट  चलो हम इन बर्तनों को आपस  में  बांट  लेते हैं लेकिन

उसमें से एक  दोस्त  बोला  कि पहले खुदाई की थी तब तांबे के बर्तन मिले थे अब खुदाई की है तो चांदी

के बर्तन मिले अब आगे जाकर खुदाई करने पर जरूर सोने के बर्तन मिलेंगे

Panchtantra ki kahaniya 2020

वह लोग आगे चलने लगे और आगे चलते चलते दामों का मोती नीचे गिर जाता है वहां भी खुदाई

करते हैं और वहांपर सोने के बर्तन निकलते हैं सोने के बर्तन देखकर दामू बहुत खुश होता है और

धामू से कहता है कि वापस लौट चलो हम इन बर्तनों को आपस में बैठकर अपने परिवार को खुशी

पूर्वक नहीं सकते हैं पर धामू के मन में लालच बैठ जाता है और वह कहता है कि हमने तीन जगह

खुदाई की तो हमें पहले तांबे के फिर चांदी के फिर सोने के बर्तन मिले हैं अब जरूर आगे जाने पर हमें

हीरे के बर्तन मिलेंगे लेकिन दामू उस सोने से ही खुश होकर वापस लौट जाता है और धामू आगे चला

जाता है

Panchtantra ki kahaniya 2020

चलते चलते धामू का मोती नीचे गिर जाता है और वह बहुत खुश होता है और खुश होते होते वह वहां पर खुदाई

करने लगता है खुदाई करते करते बहुत वक्त बीत जाता है लेकिन उसे कुछ नहीं मिलता है फिर थोड़ी देर बाद वहां

बहुत डरावनी आवाजें आने लगती हैं और वह डर जाता है फिर कुछ देर बाद उस खुदाई किए हुए जगह से एक

खूंखार जिन निकलता है वह कहता है कि तुम्हारे मन में लालच बहुत है

Panchtantra ki kahaniya 2020

और मैं तुमको अपने साथ ले जाऊंगा तो धाम उसके पैरों पर गिर जाता है और कहता है मुझे एक मौका दिया जाए मैं

जरूर सुधर जाऊंगा तो वह जिन उसकी बातों को सुनकर उसे माफ कर देता है और कहता है चलो जो मांगना चाहते हो

मांग लो तो वह कहता है कि तुम मेरे लिए बस इतनी दुआ करो कि मैं जो काम करूं वह सत्यता पूर्वक करूं और मेरे

मन में कभी लालच ना आए और वह वापस लौट आता है तो दोस्तों इस कहानी से हमें क्या शिक्षा मिलती है कि हमें

ज्यादा लालच नहीं करना चाहिए

Panchtantra ki kahaniya 2020 || Panchtantra||जादुई कुत्ता

Current Affairs 2019-20

27 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here